अग्निपथ योजना के नाम पर देश के युवाओं के भविष्य से खिलवाड़: एडवोकेट पूजा नागरा

पंचकुला

आज एक वार्ता को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी की महिला नेत्री एडवोकेट पूजा नागरा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार की नजर अब देश की सेना को लग गई है। सरकार की अग्निपथ योजना हमारे देश के युवाओं के साथ बड़ा धोखा है। यह योजना सेनाओं की कार्यक्षमता,निपुणता, योग्यता, प्रभावशीलता, सामर्थ्य से समझौता करने वाली है। पलवल,रेवाड़ी,रोहतक समेत कई स्थानों पर प्रदर्शनकारी युवाओं पर लाठीचार्ज किया गया है,यह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। अग्नीपथ योजना का देशभर के युवा लगातार विरोध कर रहे हैं, लेकिन केंद्र सरकार इसे वापस लेने की बजाए अपनी जिद पर अड़ी हुई है। सरकार इस योजना को तुरंत वापस ले।

मीडिया को जारी बयान में आम आदमी पार्टी की महिला नेत्री की ने कहा कि रोहतक में सचिन नाम के नौजवान द्वारा अग्निपथ योजना से आहत होकर आत्महत्या कर ली गई। इससे ज्यादा दु:खद कुछ नहीं हो सकता है। भाजपा सरकार ने 2 साल से सेनाओं की भर्ती रोक रखी है। युवाओं में भारी बेचैनी है तथा हरियाणा व पंजाब के कई युवा भर्ती न होने के कारण आत्महत्या तक करने को मजबूर हो गए हैं।
एडवोकेट पूजा नागरा ने कहा कि इस अग्निपथ योजना के तहत ट्रेनिंग समेत फौज में कुल सेवा केवल चार साल होगी। चार साल की इस भर्ती वाले व्यक्ति को सैन्य कैंटीन का लाभ नहीं मिलेगा और न ही किसी प्रकार की स्वास्थ्य सुविधा का लाभ मिलेगा। चार साल की सेवा के बाद 75 प्रतिशत को घर वापस जाना पड़ेगा। चार साल की भर्ती वाले लोगों को सेना की रैंक नहीं मिलेगी।

एडवोकेट पूजा नागरा ने कहा की अग्निपथ योजना के जरिए सेना में महंगी ट्रेनिंग के बाद युवाओं की बहुत थोड़ी समय के लिए सेवाएं ली जाएंगी और फिर इन्हें निजी कंपनियों में बेहद कम वेतन में सुरक्षा गार्ड के तौर पर तैनात होने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। क्योंकि,चार साल बाद सेना से निकाले जाने के बाद इनके पास किसी भी तरह के रोजगार का कोई अवसर नहीं बचेगा। युवा वर्ग ट्रेनिंग का गलत फायदा उठा कर अपराध के रास्ते पर भी जा सकते हैं जिससे देश की आंतरिक सुरक्षा को भारी खतरा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *