आप ने चंडीगढ़ मेयर चुनाव मामले पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी का स्वागत किया, इसे भाजपा की तानाशाही पर करारा तमाचा बताया

  • चंडीगढ़ चुनाव में पूरे देश ने बीजेपी की गुंडागर्दी देखी, आम चुनाव में लोग इसका करारा जवाब देंगे – मलविंदर सिंह कंग
  • बीजेपी ने चंडीगढ़ के लोगों के जनादेश का अपमान किया, लोकतंत्र में लोगों के विश्वास को ठेस पहुंचाई, आज सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले ने उस विश्वास को बहाल किया: मलविंदर सिंह कंग
  • आम आदमी पार्टी को जनता की शक्ति और न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है: कंग
  • यह लोकतंत्र का मजाक है, जो कुछ हुआ उससे हम स्तब्ध हैं, हम इस तरह लोकतंत्र की हत्या नहीं होने देंगे : सीजेआई
  • मेयर चुनाव के पीठासीन अधिकारी अनिल मसीह पर मुकदमा चलाया जाए और एमसी की कोई भी बैठक अगले आदेश तक स्थगित की जाए – सुप्रीम कोर्ट

चंडीगढ़.

आम आदमी पार्टी(आप) ने 30 जनवरी को चंडीगढ़ मेयर चुनाव में धांधली के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी का स्वागत किया और कहा कि कोर्ट का बयान भारतीय जनता पार्टी की तानाशाही पर करारा तमाचा है, जिन्होंने मेयर चुनाव में दिनदहाड़े लोकतंत्र की हत्या की।

सोमवार को चंडीगढ़ पार्टी मुख्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए आप पंजाब के मुख्य प्रवक्ता मलविंदर सिंह कंग ने सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद किया और कहा कि यह सुप्रीम कोर्ट का इस मामले पर बयान बेहद महत्वपूर्ण है। भारत के मुख्य न्यायाधीश ने भी माना कि मेयर चुनाव में लोकतंत्र का मजाक उड़ाया गया। प्रेस कॉन्फ्रेंस में कंग के साथ पार्टी प्रवक्ता नील गर्ग भी मौजूद थे।

कंग ने कहा कि 30 जनवरी को मेयर चुनाव के दौरान पूरे देश ने भाजपा की तानाशाही देखी। उन्होंने न केवल चंडीगढ़ के लोगों के जनादेश का अपमान किया बल्कि लोकतंत्र में भरोसा रखने वाले सभी नागरिकों के विश्वास को भी चोट पहुंचाई। उन्होंने कहा कि इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले ने हमारे लोकतंत्र और न्याय प्रणाली में लोगों का विश्वास बहाल किया है। उन्होंने कहा कि भारत की जनता इसे याद रखेगी और 2024 के आम चुनाव में बीजेपी को करारा जवाब देगी।

कंग ने कहा कि पहले हमें इन चुनावों को कराने के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाना पड़ा, फिर बीजेपी के पीठासीन अधिकारी ने लाइव वीडियो पर मतपत्रों के साथ छेड़छाड़ की। हमारे पास 20 वोट थे जबकि भाजपा के पास केवल 16 थे, लेकिन उन्होंने अपना मेयर चुनने के लिए हमारे 8 वोटों को अवैध घोषित कर दिया। यह दिनदहाड़े लोकतंत्र की हत्या थी। इसलिए इसके खिलाफ हमारे राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान सहित हमारा पूरा नेतृत्व लड़ रहा है। कंग ने कहा कि हम 30 जनवरी से पीठासीन अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं और आज सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा कि उन पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए।

सीजेआई चंद्रचूड़ की अगुवाई वाली सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने निर्देश दिया कि हाल ही में हुए चंडीगढ़ मेयर चुनाव का पूरा रिकॉर्ड पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार के पास सुरक्षित रखा जाए। खंडपीठ ने यह भी निर्देश दिया कि चंडीगढ़ नगर निगम की 7 फरवरी को होने वाली बैठक और उसके बजट सत्र को अगले आदेश तक स्थगित कर दिया जाए।

कंग ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। यहां ऐसी तानाशाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि 12 फरवरी को चंडीगढ़ के लोगों और देश के लोकतंत्र को न्याय मिलेगा। कंग ने कहा कि आम आदमी पार्टी को देश की जनशक्ति और न्याय प्रणाली पर पूरा भरोसा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *