आम आदमी पार्टी पूरी तरह से तीनो क़ृषि क़ानून वापसी तक किसानों के साथ है : डा सुशील गुप्ता

  • -सरकार किसानों के प्रति अडियल रवैया अपना रही है, वह बातचीत से हल निकालने को तैयार नहीं’;-चौधरी गजेंद्र सिंह


अंबाला,

आम आदमी पार्टी की किसान, मजदूर, खेत बचाओ यात्रा के चौथे दिन अम्बाला जिला के मुलाना, अम्बाला कैंट और अम्बाला सिटी मे पोहची. यात्रा को अम्बाला के कार्यकर्ताओ ने बड़ी जोशीला स्वागत किया. किसान विंग की और से भी जबरदस्त स्वागत किया गया. यात्रा के अम्बाला पोहचने पर राज्य सभा संसद सुशील गुप्ता ने बोलते हुए केंद्र और हरियाणा सरकार की किसानों के प्रति लगातार बरती जा रही बेरुखी और की जा रही ज्यातियों के खिलाफ जम कर भड़ास निकाली.उन्होंने बताया की हरियाणा के 36 बिरादरी को साथ जोडने के उद्देश्य से निकाली किसान मजदूर खेत बचाओ यात्रा को प्रदेश के हर जिले के हर गांव से भारी समर्थन मिल रहा है। आज यात्रा का चौथा दिन था जिसकी शुरूआत अंबाला के मुलाना स्थित गुरूद्वारे में आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद व हरियाणा सहप्रभारी डा सुशील गुप्ता और पार्टी के राष्टृीय सचिव पंकज गुप्ता तथा अन्य आला पदाधिकारियों ने माथा टेक कर की।

गुरूद्वारे में माथा टेकने के उपरांत स्थानीय किसानों ने डा सुशील गुप्ता को अपना पवित्र सरोपा भी भेंट किया। इस स्वागत समारोह में अंबाला मुलाना के सुखबीर सिंह,गुरचरण सिंह, दर्शन सिंह आदि गणमान्य लोग उपस्थित रहे। मुलाना से यात्रा अंबाला कैंट, अंबाला सिटी से गुजरते हुए शाहाबाद होते हुए कैंथल की और बढ़ गई. प्रवक्ता वरिंदर कपूर नार्थ विंग,किसान सेल ने बताया की आम लोगो के साथ साथ व्यापारी वर्ग से भी यात्रा को भारी समर्थन मिला। डॉक्टर सुशील गुप्ता ने बताया की हरियाणा प्रदेश की जनता भाजपा व जेजेपी की गठबंधन सरकार से परेशान हो चुकी है। वह उसको बदलने का मन बना चुकी है। यही नहीं खटटर सरकार लगातार किसानों पर अपना दवाब बनाना चाह रही है। जिस मे उनको सफलता किसी भी सूरत मे नहीं मिलने वाली.

किसान सेल के दिल्ली हरियाणा प्रभारी चौधरी गाजिदर सिंह ने कहा की यात्रा का उद्देश्य केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीनों काले कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए, किसानो की आवाज बन कर केंद्र सरकार पर दबाब बनाना है.
उन्होंने कहा पिछले करीब 9 माह से विभिन्न स्थलों पर किसान अपनी इन तीनों काले कानूनों को वापिस लिये जाने और ,एमएसपी की गररंटी दिये जाने की मांग को लेकर बिना धूप, गर्मी, सर्दी और बरसात की परवाह किये सडकों पर बैठे है। दूसरी और केन्द्र की भाजपा सरकार अपनी हरियाणा सरकार के सहयोग से किसानों में फूट डालने, उन पर झूठे केस बनाने जैसे हथकंडे अपना रही है। इस आंदोलन में लगभग 600 सौ से भी ज्यादा किसानों ने अपनी शहादत दे चूका,फिर भी किसान तीनों काले बिलों की मांगो को लेकर आंदोलन में बैठे है, यह उनकी एकता को दर्शाता है।
– डॉक्टर सुशील गुप्ता ने कहा कि एक तरफ तो सरकार कहती है कि वह किसानों से भी बात करने को तैयार है। वह बातचीत के लिए बुलाती है, फिर कई घंटे खराब करने के उपरांत कहती है कि बातचीत विफल हो गई, दोष किसानों पर थोपती है। उन्होंने ने कहा की सरकार किसानी को किस नियत से बर्बाद करना चाह रही, ये उनकी समझ के बाहर है. यात्रा के दौरान आम आदमी पार्टी के राष्टृीय सचिव पंकज गुप्ता, सुरेन्द्र राठी, योगेश्वर शर्मा, राहुल भारतीय, विनसा ढका, बबलप्रीत, आर्य सिंह, राजेश शर्मा, अमर सिंह आर्य, केजरीवाल की तीसरी आंख, मोहर सिंह,कमलप्रीत,वीरेन्द्र सिंह, सुखवीर चहल, गुरविन्द कोड़ा, वरिंदर कपूर, नरिंदर सिंह,आदि पार्टी और किसान विंग के भारी गिनती मे पदाधिकारी व अन्य समाजिक संगठनों के लोग शामिल हुए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *