आप ने सेक्टर 9 की रेहड़ी मार्केट में हुई आगजनी की घटना पर चिंता जताई

  • दूकानदारों को 50 -50 लाख रुपये का  मुआबजा दिया जाए: योगेश्वर शर्मा
  • कहा- मुख्यमंत्री की ओर से घोषित 25-25 हजार रुपये का मुआबजा नाकाफी, इतने से तो एक दूकान का ढांचा भी तैयार नहीं हो पाएगा।


पंचकूला

आम आदमी पार्टी ने सेक्टर 9 की रेहड़ी मार्केट में आग लगने से हुए नुक्सान पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए पीडि़त दुकानदारों के प्रति सहानुभूति प्रकट की है। पार्टी का कहना है कि सयंकअ की इस घड़ी में आप की पूरी हमदर्दी इन दूकानदारों के साथ है। पार्टी ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा मौके का दौरा करने के समय दूकानदारों के हुए नुक्सान  पर 25 -25 हजार रुपये का मुूआबजा दिये जाने की घोषणा को काफी कम बताते हुए एक एक दूकानदार को 50 30- लाख रुपये का मुआबजा दिए जाने की मांग की है। पार्टी ने इस आगजनी के बाद इस पर काबू पाए जाने के लिए पर्याप्त संसाधन न होने पर भी नाराजगी जताते हुए भविष्य के लिए इसे दूर करने की भी मांग की है।
आज यहां जारी एक ब्यान में आप के उत्तरी हरियाणा जोन के सचिव योगेश्वर शर्मा ने कहा कि सेक्टर 9 की रेहड़ी मार्केट में वीरवार की देररात हुई आगजनी की घटना काफ ी दुखदायी है। उन्होंने कहा कि इस मार्र्र्र्केट में दूकानदारों के साथ साथ उनसे जुड़े सैंकड़ों परिवारों का भी रोजगार जुड़ा हुआ था जोकि चंद मिंटों में ही खाक होकर रह गया। उन्होंने कहा कि इस आगजनी की घटना ने कई कमजोरियों को भी उजागर करके रख दिया है। उन्होंने कहा कि जैसा कि कई रिपोर्टे सामने आ रहीं हैं कि फायरकिट,मास्क और ऑक्सीजन सिलेंडर न होने की वजह से फायरकर्मी शुरुआत में पीछे से रेहड़ी मार्केट में घुसकर आग बुझाने नहीं गये और इस कारण आग फैल गई। उन्होंने इसमें और सुधार किये जाने की मांग की और दमकल विभाग को और भी ज्यादा अपडेट करने की मांग की है। योगेश्वर शर्मा ने आगे कहा कि आगजनी की घटना के बाद मुख्यमंत्री, महापौर सहित भाजपा के कई बड़े नेता वहां घटना का मुआयना करने तथा दूकानदारों से अफसोस व्यक्त करने गये। मुख्यमंत्री ने वहां सभी दूकानदारों के लिए 25-25 हजार रुपये के मुआबजे की घोषणा की है,जोकि नाकाफी है। उन्होंने कहा कि इतने में तो एक दूकान का ढांचा भी तैयार नहीं होगा। इसके आलावा जब तक यह दूकानें दोबारा बनकर तैयार नहीं हो जातीं तब तक दूकानदार अपने अपने घर का खर्च कहां से चलायेंगे तथा अपने पास काम करने वालों को कहां से खर्च देंगे, यह भी सोचने वाली बात है। उन्होंने इसी लिए यह मुआबजा राशि बढ़ाकर 50 -50 लाख रुपये किये जाने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *